जिले में कुपोशण की कमी के लिए चलाया जा रहा है सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान।

कोरिया

जिले में कुपोशण में कमी लाने के उद्देश्य से जिले में ‘‘सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान’’ चलाया जा रहा है। जिसके अंतर्गत प्रतिवर्ष 2 प्रतिशत की दर से कुपोशण एवं प्रतिवर्ष 3 प्रतिशत की दर से रक्ताल्पता में कमी लाने का लक्ष्य रखा गया है। अभियान की औपचारिक शुरूआत 11 जुलाई को जिला मुख्यालय के सांस्कृतिक भवन में माननीय विधायक श्रीमती अंबिका सिंहदेव एवं जिला कलेक्टर व अन्य सम्मानीय जनप्रतिनिधियों की गरिमामयी उपस्थिति में की गई थी। सुराजी सुपोशित अभियान अंतर्गत परिवार आधारित पोशण संवाद एवं विशेष मुख्यमंत्री बाल संदर्भ मेला का आयेाजन किया जाना है।


अभियान अंतर्गत के आज दिनाॅक 17 जुलाई को अभियान की शुरूआत करते हुए परिवार आधारित पोषण संवाद के कार्यक्रम को जिले के सभी 06 बाल विकास परियोजनाओं के 1792 आॅगनबाड़ी केंद्रों में प्रारंभ किया गया। जिसमें आ.बा.कार्यकर्ताओं द्वारा प्रति सप्ताह बुधवार एवं शुक्रवार को कुपोषित बच्चे के घर गृहभेंट कर बच्चों के अभिभावकों उनके पोषण एवं स्वास्थ्य संबन्धी परामर्श देने के बाद बच्चों को 01 अंडा अथवा बादामपट्टी का वितरण किया जावेगा। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए आज पंचायत एवं आॅगनबाड़ी स्तर पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इसी क्रम में एकीकृत बाल विकास परियोजना बैकुण्ठपुर के ग्राम पंचायत नगर, चेरवापारा, मुरमा, सरभोका, पतरापाली, नरकेली, बड़गांव, रनई, कंचनपुर में कार्यक्रम का शुभारंभ माननीय जनप्रतिनिधियों एवं पंचायत प्रतिनिधियों की उपस्थिति में किया गया। ग्राम पंचायत नगर में सरपंच श्री राधेश्याम, ग्राम पंचायत चेरवापारा में सचिव श्री बनवारीलाल एवं शिक्षक श्रीमती सुमनयादव , ग्राम पंचायत नरकेली में ग्राम पंचायत सचिव श्री कमलेश सिंह, ग्राम पंचायत सरभोका में जनपद सदस्य श्री विक्रमचंद्र, सरंपच श्री युवक सिंह, ग्राम पंचायत रनई में सरंपच श्री रामरसीले, ग्राम पंचायत कंचनपुर वार्ड पंच श्री नानसाय सचिव अलिमा तिर्की मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। शुभारंभ कार्यक्रम के दौरान 166 मध्यम एवं 28 गंभीर कुपोषित कुल 194 कुपोशित बच्चों को अंडा एवं बादामपट्टी खिलाया गया। इसके अतिक्ति शेष सभी बच्चों को आॅगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा उनके घर गृहभेंट कर अंडा एवं बादामपट्टी खिलाया जावेगा। श्री चंद्रबेश सिंह सिसोदिया, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास, जिला-कोरिया द्वारा ग्राम पंचायत रनई एवं नगर में उपस्थित होकर कार्यक्रम निरीक्षण किया गया एवं कार्यक्रम में उपस्थित सभी ग्रामवासियों एवं बच्चो के अभिभावकों को सुराजी सुपोशित अभियान के बारे में जानकारी प्रदान की गई एवं अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु आॅ.बा.कार्यकर्ताओं एवं विभाग के सहयोग की अपील की गई।
सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान के विशेष मुख्यमंत्री बालसंदर्भ मेला कार्यक्रम सभी कुपोशित बच्चों हेतु जिले के सभी 36 सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में माह के चतुर्थ शुक्रवार को स्वास्थ्य जाॅच शिविर का आयोजन किया जावेगा, जिससे सभी कुपोशित बच्चों को उनके नजदीकी स्वास्थ्य केद्र में नियमित स्वास्थ्य जाॅच एवं दवाईयाॅ प्राप्त हो सके और उनके स्वास्थ्य व पोषण स्तर की निगरानी हो सके। बच्चों के पोषण एवं स्वास्थ्य की सतत् निगरानी विशेष रूप से आॅगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा नियमित रूप से की जावेगी, साथ ही उनके पालकों को भी इससे अवगत कराया जावेगा, जिससे वे कुपोषण मुक्त हो सकेंगें एवं जिले के कुपोषण स्तर में कमी आयेगी।

जनदर्शन से आम जनों के समस्याओं का होने लगा समाधान

कोरिया

कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक के बाद सभी विभाग प्रमुखों की उपस्थिति में आम लोगों की समस्याएं सुनी और संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
जिले के विभिन्न जगहों से आये लोगों ने अपनी शिकायतों एवं समस्याओं से संबंधित आवेदन पत्र कलेक्टर को दिये। जिसमें ग्राम छरछा के जयलाल सिंह, मोहेलाल सिंह, हृदय सिंह, अमर सिंह, इंद्र लाल, रघुनंदन ने गेज मध्यम परियोजना में अधिग्रहित भूमि के लंबित मुआवजा राशि भुगतान कराने, गोदरीपारा चिरमिरी की लक्ष्मी सोनी ने अपनी प्रथम पुत्री कु.संजना सोनी को निःशुल्क शिक्षण प्रदान करने, ग्राम सारसताल के लालचंद ने पट्टे की जमीन पर हुए अवैध कब्जे को हटाने, ग्राम करवां के अंगद सिंह ने भूमि पर हुए अवैध कब्जे को हटाने, ग्राम सेंधा के श्याम लाल चंद्रा ने काबिज भूमि का पट्टा बनाने, चिरमिरी के बिलाल अहमद ने अपने संविदा कार्य को नियमितीकरण करने, ग्राम श शंकरगढ के धर्मेन्द्र सिंह ने ऋण पुस्तिका में हुए नाम त्रुटि को सुधरवाने, ग्राम महोरा की देवकुंवर ने पैतृक भूमि का बंटवारा कराने सहित कई लोगों ने अपने आवेदन पत्र दिये। कलेक्टर ने सभी संबंधित अधिकारियों को उचित समय में निराकरण कर जिला कार्यालय को अवगत कराने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित जिले के सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नगरीय निकायों के सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

दिव्यांगजनो का शत प्रतिशत दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनाने एवं नवीनीकरण का आयोजन।

जिले के जनपद पंचायत एवं नगरीय निकायों में शिविरो का आयोजन किया जाना है

कोरिया/छत्तीसगढ़

कलेक्टर कोरिया डोमन सिंह के आदेशानुसार दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम वर्ष 2016 के अंतर्गत 21 प्रकार की निःशक्तता के आधार पर कोरिया जिले के निम्नांकित जनपद पंचायत एवं नगरीय निकायों में निवासरत ऐसे दिव्यांगजन जिनका अभी तक मेडिकल बोर्ड द्वारा निःशक्तता प्रमाण पत्र नही बना हैं तथा जिनका निवनिकरण कराया जना हैं ऐसे चिन्हांकित दिव्यांगजनो का निःशक्तता प्रमाण पत्र बनाए जाने हेतु वर्ष 2011 के जनगणना के आधार पर निःशक्तजनो का सत प्रतिशत निःशक्तता प्रमाण पत्र जिला मेडिकल के सदस्यों की उपस्थिति में जिले की जनपद पंचायत एवं नगरीय निकायों में शिविरों को आयोजन किया जाना है।

उपरोक्त तिथियों में शिविरो का आयोजन किये जाने शिविर स्थल का सम्पूर्ण व्यवस्था एवं निःशक्त हितग्राहियों को शिविर स्थल तक लाने एवं उन्हें वापस पहुचाने के लिए निम्नानुसार कार्यदावित्व सौपा गया है इस कार्यक्रम को सफल आयोजन हेतु सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है उपरोक्त शिवर में मेडिकल प्रमाण पत्र के साथ ही दिव्यांजनो के यू.डी.आई.डी कार्ड से सम्मानित किया जावेगा जिसमे दिव्यांजनो दिव्यांगता प्रमाण पत्र के साथ अतिरिक्त आधार कार्ड,फ़ोटो भी दिव्यांगजनो को साथ में लया जना आवश्यक हैं।

यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने पुलिस एवं प्रषासन की टीम करेगा संयुक्त प्रयास-कलेक्टर

जिला सडक सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न

कोरिया

कलेक्टर श्री डोमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में जिला सडक सुरक्षा समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने जिले में यातायात व्यवस्था सुदृढ़ करने पुलिस एवं प्रशासन की टीम को संयुक्त प्रयास करने की बात कही। उन्होंने पुलिस विभाग को ब्लैक स्पाॅट का चिंहांकन करने, वाहनों में बीमा की अनिवार्यता को लागू कराने, शराब या मादक द्रव्यों का सेवन कर वाहन चालकों पर कार्यवाही करने, हेलमेट एवं सीट बेल्ट के अनिवार्यता को लागू करने, विद्यालय, महाविद्यालय एवं हाट बाजारों में यातायात जागरूकता अभियान चलाने एवं बेहतर यातायात व्यवस्था संचालित करने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होंने परिवहन विभाग को ओव्हर लोडिंग यात्री एवं माल वाहनों पर कार्यवाही करने एवं ड्रायविंग लाइसेंस प्रदान करने से पूर्व प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन अनिवार्य रूप से कराने के निर्देश दिये।


बैठक में कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग को सडक दुर्घटना में घायलों को तत्काल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने, अन्यत्र स्थानों के लिए रेफर किये गये आहत को एम्बुलेंस उपलब्ध कराने, व्यावसायिक वाहन चालकों का स्वास्थ्य एवं नेत्र परीक्षण कराने, शिक्षा विभाग को विद्यालयों व छात्रावासों में सडक सुरक्षा के सामान्य नियमों से छात्रों को अवगत कराने,राष्ट्रीय राजमार्ग को चयनित ब्लैक स्पाॅटों पर संकेतक बोर्ड लगाने एवं अन्य निदानात्मक उपायों की व्यवस्था करने, जिला क्षेत्रांतर्गत गुजरने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग के खतरनाक मोड व सकरे पुल पर संकेतक बोर्ड लगाने के साथ ही पुल के दोनों ओर रेडियम लगाने, लोक निर्माण विभाग को चयनित ब्लैक स्पाॅटों पर सुधारात्मक उपाय के तहत आवशयकता के अनुसार संकेतक बोर्ड, रंबल स्ट्रीप, जिक जैक, रेडियम, रेलिंग की व्यवस्था करने एवं आवशयक स्थलों पर मार्ग व दूरी का संकेतन बोर्ड लगाने, नगर निगम, नगर पालिका एवं नगर पंचायत को नगरीय क्षेत्रांतर्गत मुख्य सडकों के किनारे मार्किंग करना जिससे कि अवैध पार्किंग की समस्या से निजात मिल सके, अवैध अतिक्रमण एवं होर्डिंग्स को हटाने, वन विभाग को मार्ग में अवरोध उत्पन्न करने वाले पेड व झाडियों को हटाने, सभी जनपद पंचायत को आवारा पशुओं को रखने हेतु कांजी हाउस की व्यवस्था करने, विद्युत विभाग को रोड लाईट को सुचारू रूप से संचालित करने सहित विभिन्न विभागों को उनसे संबंधित दायित्वों के निर्वहन के निर्देश दिये।
बैठक में जिले के पुलिस अधीक्षक श्री विवेक शुक्ला ने अधिकारियों को दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट एवं चारपहिया वाहन चलाते समय सीटबेल्ट का प्रयोग करने की समझाईष दी। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी और जिला परिवहन अधिकारी सहित जिले के सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नगरीय निकायों के सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

विधायक के जनसंपर्क निधि से 1.83 लाख रूपये का चेक वितरित

कोरिया

जिले के प्रभारी मंत्री के अनुमोदन उपरांत मनेन्द्रगढ क्षेत्र के विधायक डाॅ. विनय जायसवाल के जनसंपर्क निधि से 1 लाख 83 हजार रूपये का चेक वितरित किया जा चुका है। जिसमें हरिकांत अग्निहोत्री के लिए 10 हजार, शबिना खातून के लिए 10 हजार, रामप्रसाद के लिए 5 हजार, बाबू लाल के लिए 3 हजार, मधुसूदन प्रसाद के लिए 3 हजार, अनिल के लिए 5 हजार, राम नारायण के लिए 7 हजार, शगुप्ता बक्ष के लिए 20 हजार, रूमा चटर्जी के लिए 10 हजार, रतन जायसवाल के लिए 5 हजार, प्रकाश के लिए 5 हजार, अजीत कुमार परिडा के लिए 5 हजार, दोस मोहम्मद खान के लिए 3 हजार, राजेश यादव के लिए 5 हजार, बबादीन के लिए 5 हजार, फिसेजा खातून के लिए 10 हजार, रितु दुबे के लिए 10 हजार, इन्दू सिंह के लिए 2 हजार, कुमार अनुशिक्षा पुरकेत के लिए 10 हजार, रामप्रवेश तिवारी के लिए 20 हजार, रमेश जायसवाल के लिए 5 हजार, चैतुराम के लिए 10 हजार, नाज परवीन के लिए 5 हजार, सतनारायण सिंह के लिए 5 हजार एवं पिन्टू कुमार जायसवाल के लिए 5 हजार रूपये की राशि शामिल है। यह राशि हितग्राहियों, मण्डलियों के ईलाज, शिक्षा एवं आर्थिक सहायता हेतु दी गई है।

मृत व्यक्ति के नाम पर जारी राशनकार्ड की जांच के निर्देश

खाद्य, सहकारिता एवं कृषि विभाग की समीक्षा बैठक संपन्न

कोरिया

कलेक्टर श्री डोमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट स्थित उनके चेम्बर में खाद्य, सहकारिता, बीज निगम, फिशरीष, नान, मार्कफेड, वेटनरी, होर्टिकल्चर एवं कृषि विभाग की समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने मृत व्यक्ति के नाम पर जारी राशनकार्ड की जांच के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होंने सभी अधिकारियों को पौधारोपण के संबंध में दिये गये लक्ष्य के अनुरूप कार्य प्रगति की जानकारी ली।
बैठक में कलेक्टर ने केसीसी एवं बारदाना एकत्रीकरण की प्रगति की जानकारी प्राप्त कर केसीसी एवं बारदाना एकत्रीकरण में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कृशि विभाग के अधिकारी से फार्मर पोर्टल में कृषकों की एन्ट्री की जानकारी, मिट्टी नमूना संग्रहण, स्वाईल हेल्थ कार्ड, खरीफ फसलवार बीज भण्डारण एवं वितरण और बचत आदि की जानकारी ली। इसके अलावा उन्होंने अमानक स्तर पर धान बीज एवं खाद की हो रही बिक्री पर कडी से कडी नजर रख कर कार्यवाही करने की बात कही।
बैठक में कलेक्टर ने कृषकों को उपलब्ध कराये जाने वाले खाद, बीज भण्डारण की स्थिति, वितरण एवं बचत, ऋण माफी प्रमाण पत्र, पीडीएस, पुराने राशन कार्ड की नवीनीकरण एवं राशन दुकान हेतु भवन निर्माण की जानकारी प्राप्त की।इसी तरह उन्होंने खाद्य विभाग से पहुंच विहीन राशन केंद्रों में पर्याप्त मात्रा में राशन के भण्डारण एवं राशनकार्ड नवीनीकरण के संबंध में की जानकारी ली। ततपश्चात उन्होंने पशुपालन विभाग से पशुओं के लिए चारा एवं पर्याप्त मात्रा में पैरा की उपलब्धता,आदर्श गौठानों में पशुओं के टीकाकरण की जानकारी ली।
बैठक में सहकारिता विभाग के अधिकारी ने कृशकों को शत प्रतिशत ऋ़ण माफी प्रमाण पत्र का वितरण करने की जानकारी दी। इसी तरह जिला विपण अधिकारी ने जिले में युरिया, सुपर फास्फेट, डीएपी, एनपीके 12ः32ः18 एवं पोटाश के भण्डारण की जानकारी दी। जिसके अनुसार प्राप्त लक्ष्य 8 हजार 530 से अधिक 8 हजार 781 टन भण्डारण कर 6 हजार 862 टन समिति वितरण एवं 9 हजार 478 टन किसानों को वितरण शामिल है। कलेक्टर ने उपस्थित सभी अधिकारियों को शासन के नियमों का पालन करते हुए अधिक से अधिक हितग्राहियों एवं किसानों को लाभान्वित करने तथा तेजी से भण्डारण के निर्देश दिये। इस अवसर पर संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान 12 हजार 829 कुपोशित बच्चों को सुपोशित बनाने का लक्ष्य

कोरिया

जिला प्रशासन द्वारा जिले में सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान का संचालन किया जा रहा है। विगत दिवस बैकुण्ठपुर क्षेत्र की विधायक श्रीमती अंबिका सिंह देव एवं कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने जिले को कुपोशण मुक्त एवं स्वस्थ्य जिला बनाने के उदेश्य से इस अभियान का शुभारंभ किया। जिसके तहत कुपोशित बच्चों को सुपोशित करने का जो कार्य किया जा रहा है, निश्चित ही यथाशीघ्र सुपोशित जिला बनेगा। इस हेतु 12 हजार 829 कुपोशित बच्चों को सुपोशित बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसमें 9 हजार 586 मध्यम एवं 3 हजार 243 गंभीर कुपोशित बच्चे शामिल हैं। इस अभियान के लिए कलेक्टर ने जिला खनिज संस्थान न्यास से कुल 62 लाख 63 हजार 760 रूपये की स्वीकृति प्रदान की है। इस अभियान के तहत एक ओर मेडिकल टीम द्वारा बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर कुपोशित बच्चों का आवश्यक दवाईयां वितरित की जा रही हैं, वहीं दूसरी ओर बच्चों को एक एक अंडा एवं बादाम पट्टी खिलाकर उन्हें सुपोशण की दिशा में आगे बढने में मदद की जा रही है। इस अभियान के सफल संचालन के लिए जिला कार्यक्रम अधिकारी को आवश्यक निर्देष भी दिये गये हैं।


पोशण अभियान के अंतर्गत प्रतिवर्श 2 प्रतिशत की दर से कुपोशण एवं 3 प्रतिशत की दर से एनीमिया में कमी लाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। सुराजी सुपोशित कोरिया अभियान के तहत परिवार आधारित पोशण एवं जागरूकता संवाद तथा विशेष मुख्यमंत्री बाल संदर्भ मेला कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। जिसमें सुपोशण ट्री मुनगा अभियान एवं अन्य विभागीय योजनाओं से अवगत कराया जा रहा है और आंगनबाडी कार्यकर्ताओं को उचित सहयोग प्रदान करने हेतु अपील की जा रही है। सुपोशण ट्री मुनगा का रोपण सभी आंगनबाडी केंद्रों में एवं सभी हितग्राहियों के घर में लगाया जायेगा। इसमें उपलब्ध पोशक तत्व कुपोशण एवं रक्ताल्पता को दूर करने में विशेष रूप से सहायक है। इसके अतिरिक्त आंगनबाडी कार्यकर्ता द्वारा आंगनबाडी केंद्रों में दर्ज सभी मध्यम एवं गंभीर कुपोशित बच्चों के घर सप्ताह में 2 दिन प्रति बुधवार एवं शुक्रवार को गृहभेंट कर पोशण स्वास्थ्य एवं स्वच्छता संबंधी आदतों के विषय में अभिभावकों को परामर्श प्रदान किया जा रहा है।

मध्यान्ह भोजन मीनू के अनुसार बनाकर उसका रिपोर्ट व्हाट्सएप्प के माध्यम से प्रतिदिन भेजने के निर्देश

स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक संपन्न

कोरिया

कलेक्टर श्री डोमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने प्रत्येक स्कूलों की मानीटरिंग हेतु अधिकारी-कर्मचारियों को पालक की भांति जिम्मेदारी शुनिश्चत कराने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। तय जिम्मेदारी अनुसार अधिकारी-कर्मचारी शिक्षा गुणवत्ता में सुधार हेतु अपना विशेष सहयोग देंगे। इसी तरह उन्होंने संबंधितों को मध्यान्ह भोजन मीनू के अनुसार बनाकर उसका रिपोर्ट व्हाट्सएप्प के माध्यम से प्रतिदिन भेजने के निर्देश दिये।


बैठक में कलेक्टर ने शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत प्रवेश की अद्यतन जानकारी प्राप्त कर जिले के कुल लक्ष्य 2 हजार 142 सीटों सीटों में प्रवेश दिलाने के निर्देश दिये। इसी तरह उन्होंने कहा कि कोरिया सुराजी शिक्षा के तहत प्रशासनिक बोर्ड परीक्षा कोचिंग की शुरूआत की गई है। उन्होंने कोचिंग के सुव्यवस्थित संचालन तथा आगामी दिनों में तहसील स्तर, उप तहसील स्तर, विकासखंड स्तर पर भी कोचिंग की क्लासेस प्रारंभ करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शाला प्रवेश उत्सव के दौरान लक्ष्य के अनुरूप 29 हजार 977 बच्चों के प्रवेश हो चुके हैं। इन्हें सुपोशण के टिप्स, नशे के दुषप्रभाव, एवं प्लास्टिक कैरी बैग का उपयोग कम से कम करने सहित पाठ्यक्रम से संबंधित उचित शिक्षा देने के निर्देष दिये।
बैठक में कलेक्टर ने जिला प्रशासन द्वारा पांचों विकासखंडों के खण्ड शिक्षा अधिकारियों को दिये गये लक्ष्य की जानकारी प्राप्त की तथा जर्जर हो चुके स्कूल भवनों के प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। उन्होंने शाला कोश प्रदाय बायोमैट्रिक टेबलेट के विवरण की जानकारी प्राप्त की। इसी तरह उन्होंने निःशुल्क पाठ्य पुस्तक एवं गणवेष वितरण,सरस्वती सायकल योजना के तहत बालिकाओं को सायकल वितरण, गुणवत्ता में सुधार हेतु रणनीति, सर्व शिक्षा अभियान के अंतर्गत स्वीकृत पूर्ण-अपूर्ण कार्यों की जानकारी प्राप्त की तथा विभिन्न शालाओं में संलग्न शिक्षकों की वापसी हेतु आवष्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

बच्चे के जन्म लेते ही राजस्व अमले को जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश।

स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न जिला स्तरीय समितियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न कोरिया 13 जुलाई

कोरिया

कलेक्टर श्री डोमन सिंह की अध्यक्षता में विगत दिवस जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न जिला स्तरीय समितियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने सर्वप्रथम स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को बच्चे के जन्म के साथ ही जाति प्रमाण पत्र प्रदान करने की सरकार की मंशानुरूप राजस्व अमले को जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अब बच्चे को जन्म एवं जाति प्रमाण पत्र जन्म के समय ही जारी किये जायेंगे।


बैठक में कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों को पदस्थापना मुख्यालय में रहने, सक्षम अधिकारी द्वारा सत्यापन पश्चात की वेतन भुगतान, स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एवं रिक्त पदों की जानकारी, जन औशधि केंद्र से दवाई वितरण, विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में दवाईयों की उपलब्धता, राश्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यक्रम के तहत संचालित कार्यक्रम के क्रियान्वयन, जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी होने वाले दिव्यांगता प्रमाण पत्र, जनसंख्या स्थिरीकरण, राष्ट्रीय किशोरी स्वास्थ्य कार्यक्रम, मलेरिया, डायरिया, खखार जांच, सीबीनाट, टीबी नोटिफिकेशन, झोलाछाप डाक्टर पर कार्यवाही, संस्थागत प्रसव,राष्ट्रीय कुष्ठ उन्नमूलन कार्यक्रम, मातृ एवं शिशु मृत्यु अंकेक्षण, कुपोशण मुक्ति, एंटी रैबिज वेक्सीन एवं एंटी स्नैक वेनम की पर्याप्त उपलब्धता, डीएमएफ से प्रदत्त राशि के आय-व्यय, हाट बाजार में मोबाईल यूनिट का संचालन सहित विभिन्न महत्वपूर्ण मुद्दों पर विस्तारपूर्वक चर्चा कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं सिविल सर्जन सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

के.बी.पटेल कॉलेज&नर्सिंग का परीक्षा परिणाम रहा शत प्रतिशत

कोरिया

के.बी. पटेल कॉलेज ऑफ नर्सिंग, नागपुर रोड सरभोका, कोरिया (छ.ग.), सरगुजा संभाग का सर्वश्रेष्ठ नर्सिंग काॅलेज है जो कि विगत 8 वर्षों से संचालित है। अपने परीक्षा परिणामों एवं उच्च शिक्षण नीति की वजह से यह संस्था सफलता के नए आयामों को छू रही है। प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी महाविद्यालय के छात्रों का उत्कृष्ठ परीक्षा परिणाम पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ द्वारा घोषित किया है जिसमें कि कु. संगीता कुलहरी 73.83 % एवं श्वेता कश्यप 70.8% अंको के साथ चतुर्थ वर्ष उत्तीर्ण किया। संस्था की पढ़ाई का स्तर इसी से आंकलन किया जा सकता है।
इसी तरह संस्था बी.एस. सी. नर्सिंग एवं जी.एन. एम. के छात्र-छात्राओं के उत्तम रोजगार के लिए प्रतिवर्ष जॉब प्लेसमेंट का आयोजन करती रही है एवं छात्र-छात्राओं को अच्छी जॉब प्लेसमेंट भी उपलब्ध कराती है। संस्था से अभी तक बी.एस. सी. नर्सिंग के चार बैच एवं जी.एन. एम के तीन बैच का जॉब प्लेसमेंट बहुत ही बढ़िया तरीकों से हुआ हैं, जिसमें संस्था पहले बैच के अधिकांश छात्र-छात्राओं का चयन सरकारी महकमों में भी हुआ है और, द्वितिय बैच के छात्र-छात्राओं का चयन पुणे जैसे महानगरों में दीनानाथ मंगेसकर चिकित्सालय में में हुआ है, इसी प्रकार तृतीय बैच के छात्र-छात्राओं का चयन कलकत्ता के बहोत बड़े हार्ट चिकित्सालय B M Birla Heart Research Centre में हुआ एवं चतुर्थ बैच के छात्र-छात्राओं का चयन भी कलकत्ता के CMRI हॉस्पिटल में हुआ है, एवं सभी बैच के छात्र-छात्रा अपना कार्य बहोत ही निष्ठा लगन एवं ईमानदारी के साथ कर रहे है। संस्था के स्टॉफ एवं छात्र-छत्राओ द्वारा सभी वर्गों के त्योहारों को उत्साहपूर्वक मनाया जाता है।
संस्था में छात्रों को बेहतर प्रशिक्षण के लिए बैकुंठपुर जिला अस्पताल, नागपुर PHC हॉस्पिटल, मनेन्द्रगढ़ CHC हॉस्पिटल एवं रीजनल हॉस्पिटल गोदरिपरा चिरिमिरी में ले जाया जाता है और psychatric प्रशिक्षण के लिए कैडबम्स psychatric हॉस्पिटल बैंगलोर भी ले जाते है, और सभी छात्र-छात्राओं को सभी प्रकार का प्रशिक्षण दिया जाता है । इसके अलावा अन्य सुविधाएं जैसे लायब्रेरी, कम्प्यूटर लैब, न्यूट्रिशन लैब, फंडामेंटल लैब, ओ.बी.जी. एवं चाइल्ड हेल्थ लैब, ए.वी. एड्स लैब और कम्युनिटी लैब, सेमिनार हाॅल भी संस्था द्वारा छात्रों को उपलब्ध कराई जाती है। छात्राओं के लिए छात्रावास की सुविधा भी उपलब्ध है। विद्यार्थियों के बेहतर अध्ययन एवं प्रशिक्षण के लिए उच्च शिक्षित शिक्षक कार्यरत् है एवं संस्था द्वारा समय-समय पर विशषज्ञों द्वारा वयाख्यान का भी आयोजन किया जाता है। के.बी. पटेल कॉलेज ऑफ नर्सिंग INC दिल्ली द्वारा मान्यता प्राप्त है एवं पं. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति स्वास्थ्य विज्ञान एवं आयुष विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ द्वारा संबद्धता प्राप्त है।
छ.ग. शासन द्वारा अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछ़ड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति सुविधा भी संस्था में उपलब्ध है।