एकलव्य संयुक्त आवासीय विद्यालय पोड़ीडीह में अतिथि शिक्षकों की होगी भर्ती

कोरिया:-

जिले के विकासखण्ड खडगवां के ग्राम पोड़ीडीह स्थित एकलव्य संयुक्त आवासीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में अतिथि शिक्षकों की भर्ती की जायेगी। विद्यार्थियों के अध्यापन की आवशयकता को देखते हुए गणित एवं अंग्रेजी विषयों के लिए एक-एक पी0जी0टी स्तर के अतिथि शिक्षकों की भर्ती की जायेगी। इस हेतु इच्छुक आवेदकों से 13 जुलाई तक आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये है। आवेदन पत्र सीधे अथवा पंजीकृत डाक के माध्यम से आदिवासी विकास विभाग के कार्यालय में कार्यालयीन समय पर जमा किये जा सकते है।
भर्ती हेतु पी0जी0टी स्तर के आवेदकों को मान्यता प्राप्त विशवविद्यालय से न्यूनतम 55 प्रतिशत अंक के साथ संबंधित विषय में स्नातकोत्तर उपाधि, मान्यता प्राप्त विशवविद्यालय से बी0एड या एम.एड की उपाधि, रोजगार कार्यालय का जीवित पंजीयन, न्यूनतम आयु 23 वर्ष तथा अधिकतम आयु 35 वर्ष और छत्तीसगढ़ राज्य का मूल निवासी होनी चाहिए।
आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त ने आज यहाॅ बताया कि अतिथि शिक्षकों का चयन मेरिट के माध्यम से जिला स्तरीय समिति द्वारा की जायेगी। चयनित अतिथि शिक्षकों को प्रति कालखण्ड दो सौ रूपये की दर से मानदेय दिया जायेगा। एक दिवस में अधिकतम चार कालखण्ड अध्यापन कार्य करना होगा। अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था पूर्णतः अस्थायी व आदेश जारी होने के तिथि से 89 दिनों के लिए वैध होगी। अवधि समाप्त होने पर यह व्यवस्था स्वमेव समाप्त मानी जायेगी।

जिले के सभी राशनकार्डों का नवीनीकरण कार्य 15 जुलाई से

कोरिया:-

कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने बताया कि जिले के सभी राशनकार्डधारियों के राशनकार्डों का नवीनीकरण कार्य 15 जुलाई से 29 जुलाई तक शिविर के माध्यम से किया जायेगा। शिविर स्थल ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायत, सामुदायिक भवन, अन्य शासकीय भवन में तथा शहरी क्षेत्र में वार्ड स्तर पर शासकीय भवन में होगा। 
नवीनीकरण आवेदन के साथ राशनकार्ड के मुखिया एवं सभी सदस्यों के आधारकार्ड की छायाप्रति, राशनकार्ड के मुखिया बैंक पासबुक की छायाप्रति, राशनकार्ड के प्रथम एवं अंतिम पृष्ठ की छायाप्रति व मुखिया के दो नवीन पासपोर्ट साईज फोटो अनिवार्य रूप से देना होगा। इसके पश्चात राशनकार्ड नवीनीकरण का कार्य 30 अगस्त तक पूरा किया जायेगा। इस अवधि में सभी पात्र हितग्राहियों को राशन उनकी पात्रतानुसार दिया जायेगा।

पुत्र ने अपने ही जीवित माँ का बनवाया फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र

कोरिया:

कोरिया जिले के चर्चा क्षेत्र में फर्जीवाड़े का एक बड़ा मामला सामने आया है जी हां हम बात कर रहे हैं शिवपुर चर्चा नगर पालिका की पिछले तीन चार वर्ष पूर्व स्थानीय चर्चा निवासी नारद प्रसाद रवि के द्वारा वार्ड पार्षद के सहयोग से अपनी जीवित मां का फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनाकर उपभोक्ता फार्म बैकुंठपुर से फर्जी दस्तावेज पेश कर जीवित मां को मृत घोषित कर लगभग पांच लाख रुपये का रकम आहरण करना चाह रहा था लेकिन उसके जीवित मां को जैसे ही भनक लगी वह अपने छोटे पुत्र के साथ उपभोक्ता फॉर्म में जाकर दावा आपत्ति पेश कर दी उपभोक्ता फॉर्म संचालक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए नारद प्रसाद रवि को फर्जी दस्तावेज पेश करने के एवज में डांट फटकार लगाई और बीमा का पैसा उनकी मां के बैंक खाते में भेज दिया पर सवाल यह उठता है कि इस प्रकार के कृत्य करने वाले पुत्र को कानून किस प्रकार की सजा देगी ।

इस फर्जीवाड़े की जानकारी चिममिरी निवासी उमेश वस्त्रकार को मिली उन्होंने सूचना का अधिकार के जरिए नगर पालिका शिवपुर चर्चा से मूल दस्तावेज प्राप्त कर कोरिया पुलिस अधीक्षक महोदय विवेक शुक्ला को लिखित तौर पर दस्तावेज के साथ आवेदन प्रस्तुत किया आवेदन को गंभीरता पूर्वक लेते हुए पुलिस अधीक्षक कोरिया के निर्देश पर चिरमिरी नगर पुलिस अधीक्षक कर्ण कुमार यूके को जांच का निर्देश दिया जांच में तथ्य सही पाने पर चर्चा थाना प्रभारी तेजनाथ सिंह के सुपुर्द कर दिया गया उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपी नारद प्रसाद रवि के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया बहरहाल अब सवाल यह उठता है कि पुलिस अन्य दोषियों के ऊपर कब तक कार्रवाई करती है।इस पूरे कार्यवाही में थाना प्रभारी तेजनाथ सिंह, स.उ.नि.सुबल सिंह,प्रधान आरक्षक वीरेन्द्र सिंह, आरक्षक अमित त्रिपाठी, दीपक सिंह ने मोहत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

वन अधिकार पट्टा मिलना जीवन में सबसे खुशी का पल-इंद्रपाल बैगा

कोरिया — जीवन में सबसे बडी खुशी का पल वन अधिकार पट्टा मिलना को बताते है जनकपुर के इंद्रपाल बैगा। कोरिया जिले के दूरस्थ अंचल जनकपुर में इंद्रपाल बैगा अपने परिवार के साथ विगत कई वर्षो से निवासरत है। प्रशासन के सहयोग से उनके वर्षों का सपना पूरा हुआ है। वे हमेशा चिंतित रहते थे, कि जिस जमीन का हम उपयोग कर रहे हैं, क्या कभी अपने नाम से हो पायेगी।
भूपेष सरकार के मुख्यमंत्री बनते ही उनके चेहरे में खुशी झलकने लगी, एक आस जगी कि हमे इस जमीन पर मालिकाना हक मिलेगा और अंततः प्रशासन के सहयोग से उनका सपना पूरा हुआ। उन्होंने बताया कि प्रथम बार में वन अधिकार पट्टा हेतु किये गये आवेदन निरस्त हो गये थे, किन्तु प्रशासन द्वारा दोबारा आवेदन करवाया गया। उनका कहना है कि भूपेष सरकार के चलते अब मुझे वनभूमि के 0.197 हेक्टेयर रकबा जमीन का मालिकाना हक मिला है, जिसका खसरा नंबर पी-1266 है। मेरे जीवन की सबसे बडी खुशी का पल मेरे हाथ में वन अधिकार पट्टा मिलना है। मुख्यमंत्री को मेरे परिवार की तरफ से बहुत बहुत धन्यवाद।

नोनी सुरक्षा योजना से लाभान्वित हितग्राहियों को मिला प्रमाण पत्र

कोरिया

जिले में नोनी सुरक्षा योजना से लाभान्वित हितग्राहियों को विगत दिवस विकासखंड भरतपुर के ग्राम जनुवा में आयोजित जिला स्तरीय जनससमया निवारण षिविर में प्रमाण पत्र दिया गया। इस दौरान उपस्थित आमजनों, जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारी-कर्मचारियों को बताया गया कि महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत संचालित नोनी सुरक्षा योजना महत्वपूर्ण योजना है। इसके तहत 1 अप्रैल 2014 के बाद जन्मी बालिका के माता-पिता छत्तीसगढ के मूल निवासी तथा दो बालिकाओं तक सीमित हो और सर्वे सूची ग्रामीण 2002 षहरी क्षेत्र 2007 के अनुसार गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के होने चाहिए। द्वितीय बालिका होने की स्थिति में परिवार नियोजना का विकल्प अपनाए जाने का प्रमाण पत्र तथा आवेदक को एक वर्श के भीतर आवेदन प्रस्तुत करना अनिवार्य है। 
वर्तमान में कोरिया जिले के 1650 बालिकाएं इस योजना से लाभान्वित हो चुकी है। इस प्रकार जिले में वर्श 2014-15 से 2018-19 तक एक लाख प्रति हितग्राही की मान से 16 करोड 5 लाख रूपये की राषि भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा प्रदान किया जायेगा। यह बीमित राषि बालिका के 18 वर्श से कम आयु तक विवाह ना होने तथा कक्षा 12वीं तक षिक्षा पूर्ण होने के उपरांत ही मिलेगी। 
छत्तीसगढ़ सरकार ने नवजात लड़कियों के लिए नोनी सुरक्षा योजना शुरू की है। नोनी सुरक्षा योजना के जरिये सरकार प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ माहौल बनाना चाहती है। नोनी सुरक्षा योजना के तहत 18 साल की 12वीं कक्षा पास कर चुकी बेटियों को 1 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी जाती है। राज्य सरकार की यह योजना बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच बढ़ाने के लिए लागू की गई है।

मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा हाट बाजारों में दी जा रही है स्वास्थ्य सुविधाएं

कोरिया :-

आम जनों को हाट बाजारों में भी बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए जिले में मोबाईल मेडिकल यूनिट का शुभारंभ गत् 24 जून को किया गया था। हाट बाजारों के माध्यम से कैम्प लगाकर ब्लडटेस्ट, शुगर, बीपी, बुखार आदि सभी जांच मोबाईल टीम द्वारा अनुभवी चिकित्सक, एएनएम, फार्माषिस्ट तथा अत्याधुनिक लैब के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य जांच प्रदाय किया जा रहा है।मोबाईल मेडिकल यूनिट के द्वारा जिले के सभी पांचों विकासखंडों बैकुण्ठपुर, मनेन्द्रगढ, सोनहत, खडगवां एवं जनकपुर के हाट बाजार में अब तक कुल 410 मरीजों की स्वास्थ्य जांच कर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करायी जा चुकी है। हाट बाजारों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिलने से ग्रामीणों एवं आमजनों को दूरस्थ स्वास्थ्य केंद्रों में नहीं जाना पड रहा है। मोबाईल मेडिकल यूनिट द्वारा की जा रही स्वास्थ्य सुविधा से आम जन काफी उत्साहित है। ग्रामीणजनों ने कहा कि सरकार इस पहल के लिए बधाई के पात्र है। 

छत्तीसगढ़ के पारंपरिक गहने और आभूषण न सिर्फ छत्तीसगढ़ की पहचान है बल्कि इससे पुरुष और स्त्री वर्ग को अलग खूबसूरती मिलती है – डॉ. शांता शर्मा

सरगुजा संभाग के दौरे पर निकली शांता शर्मा कोरिया जिले के बैकुण्ठपुर पहुँची । यहाँ उनके द्वारा शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में सेमीनार कर छात्रों को आभूषणों के बारे में बताया गया । उन्होंने सरगुजा संभाग के अलग-अलग इलाकों में भी छत्तीसगढ़ के आभूषणों को युवा वर्ग से परिचित कराने के लिए कई सेमिनार आयोजित किए जिसमें शांता आभूषणों के नाम और उसके पहनावे के साथ आभूषणों के उपयोग और उसके शरीर पर पड़ने वाले पॉजिटिव असर से भी युवाओं और लोगों को रूबरू करा रही हैं ।यही कारण है कि सरगुजा संभाग जिसे यूपी और बिहार के कल्चर के रूप में जाना जाता है यहां भी लोग छत्तीसगढ़ गहनों की न सिर्फ सराहना कर रहे हैं बल्कि यह भी कह रहे हैं कि कई गहनों की पहचान तो उन्हें थी ही नहीं और उसके शरीर पर पड़ने वाले असर से भी वह अनजान थे।

युवा वर्ग भी यह मान रहा है कि छत्तीसगढ़ के गहनों को सरकार के द्वारा न सिर्फ चलन में लाने का प्रयास किया जाना चाहिए बल्कि इसे बढ़ावा भी दिया जाना चाहिए । मूलतः भिलाई की रहने वाली शांता शर्मा का कहना है कि छत्तीसगढ़ के गहने अपनी पहचान न सिर्फ देश बल्कि विदेश में भी बना सकते हैं। इसे सरकार के द्वारा अलग-अलग क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाले लोगों को उपहार के रूप में दिया जाना चाहिए और इसके लिए बोर्ड की स्थापना करनी चाहिए ताकि लोग इसे फिर से चलाने के लिए प्रयास कर सकते हैं ।

ऐसे में कहा जा सकता है कि गोल्ड मैडलिस्ट शांता शर्मा की पहल छत्तीसगढ़ के आभूषणों के जरिए छत्तीसगढ़ के अस्तित्व को बचाने की लड़ाई है जिसे लोग बेहद सराह रहे है।

वन महोत्सव के दौरान कुल 7 लाख पौधे लगाये जायेंगे-कलेक्टर 6 जुलाई को आयोजित समीक्षा बैठक में पूर्ण जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देष समय-सीमा की बैठक सम्पन्न

कोरिया:-

कलेक्टर श्री डोमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने 6 जुलाई को आयोजित प्रदेष के नगरीय प्रशासन और विकास एवं श्रम मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डाॅ. षिवकुमार डहरिया की समीक्षा बैठक में पूर्ण जानकारी के साथ निर्धारित समय एवं स्थान पर उपस्थित होने के निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि डाॅ. डहरिया 6 जुलाई को प्रातः 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक कोरिया जिले की समीक्षा बैठक लेंगे। तत्पष्चात अपरान्ह 3 बजे से षाम 5 बजे तक नगरीय प्रशासन और श्रम विभाग की समीक्षा बैठक लेंगे। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाष्त नहीं की जायेगी। 

बैठक में कलेक्टर ने स्थानांतरण नीति पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि 12 जुलाई तक जिला स्तर पर तृतीय श्रेणी (गैर-कार्यपालिक) तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के स्थानांतरण जिले के माननीय प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से कलेक्टर द्वारा किये जा सकेंगे और प्रभारी मंत्री के अनुमोदन उपरांत स्थानंातरण आदेष तद्नुसार प्रसारित होंगे। स्थानांतरण प्रस्ताव, संबंधित विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी विस्तृत परीक्षण उपरांत ही प्रस्तुत करें। 
बैठक में कलेक्टर ने डीएमएफ से हुए वर्श 2016-17, 2017-18 एवं 2018-19 में स्वीकृत, पूर्ण एवं प्रक्रियाधीन कार्यों की विस्तारपूर्वक समीक्षा की। अनुसूचित जाति, पिछडा वर्ग तथा सरगुजा विकास प्राधिकरणों के निर्माण कायों की भी जानकारी प्राप्त की। इसके अलावा उन्होंने पंचायत एवं नगरीय निकायों में होने वाले निर्वाचन के परिसीमन की जानकारी प्राप्त की। कलेक्टर ने कहा कि जिला एवं खण्ड स्तरीय जनसमस्या निवारण षिविर में अधिकारी प्रमुखता से उपस्थित रहकर संबंधितों के आवेदनों का त्वरित निराकरण कर उन्हें लाभान्वित करें। 
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले में वन महोत्सव के दौरान कुल 7 लाख पौधे लगाये जायेंगे। इस हेतु सभी कार्यालय प्रमुखों को पौधारोपण हेतु लक्ष्य दिया गया है। उन्होंने दिये गये लक्ष्य के अनुरूप पौधारोपण करने के निर्देष दिये। इसी क्रम में कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग से जिला न्यायालय के पूर्णता की स्थिति, जिला षिक्षा अधिकारी से षाला प्रवेष उत्सव, सीएसईबी से बिजली कटौती, आरटीओ से स्कूल बसों के फिटनेस एवं सडक सुरक्षा, कृशि विभाग से किसान सम्मान निधि, कृशक पोर्टल में आनलाईन एन्ट्री, गौठान निर्माण, राजस्व विभाग से जाति, आय एवं निवास प्रमाण पत्र, सीमांकन, नामांकन, बंटवारा आदि मामले की जानकारी प्राप्त की। इसी तरह उन्होंने षासन से लाभान्वित बडे हितग्राहियों को वाटर हार्वेस्टिंग लगाने, रोजगार गारंटी के तहत निर्माण कार्य, वन अधिकार पट्टे की पात्रता एवं वितरण, भू-अर्जन, प्रधानमंत्री आवास योजना, राषनकार्ड, आधार सीडिंग, विधवा, वृध्दावस्था, दिव्यांगता पेंषन, ग्राम पंचायत में नलजल, पाइप की व्यवस्था एवं स्थिति आदि के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा कर अद्यतन जानकारी ली तथा संबंधितों को आवष्यक निर्देष दिये।
इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित जिले के सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नगरीय निकायों के सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

प्रभारी मंत्री डाॅ.शिवकुमार डहरिया का दौरा कार्यक्रम कोरिया

कोरिया:-

प्रदेष के नगरीय प्रशासन और विकास एवं श्रम मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री डाॅ. शिवकुमार कुमार डहरिया 5 जुलाई को शाम 4 बजे अंबिकापुर से सडक मार्ग द्वारा प्रस्थान कर शाम 6 बजे कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर पहुंचेंगे एवं रात्रि विश्राम करेंगे। डाॅ. डहरिया 6 जुलाई को प्रातः 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक कोरिया जिले की समीक्षा बैठक लेंगे। दोपहर 2 बजे से अपरान्ह 3 बजे तक भोजन के लिए उनका समय आरक्षित रहेगा। अपरान्ह 3 बजे से शाम 5 बजे तक नगरीय प्रशासन और श्रम विभाग की समीक्षा बैठक लेंगे। मंत्री डाॅ. डहरिया रात्रि 10 बजे बैकुण्ठपुर से रेलमार्ग द्वारा रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे। 
कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने मंत्री डाॅ. डहरिया के प्रवास के दौरान आयोजित समीक्षा बैठक में पूर्ण जानकारी के साथ निर्धारित समय एवं स्थान पर उपस्थित होने के लिए संबंधित विभाग प्रमुखों को निर्देष दिये हैं। 

रिपोर्ट — नियाज अली

जनदर्शन में प्राप्त आवेदनों का संबंधित अधिकारी करें त्वरित निदान-कलेक्टर

कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने आज यहां जिला कलेक्ट्रोरेट के सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक के बाद सभी विभाग प्रमुखों की उपस्थिति में आम लोगों की समस्याएं सुनी और संबंधित अधिकारियों को आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दिये। 

जिले के विभिन्न जगहों से आये लोगों ने अपनी शिकायतों एवं समस्याओं से संबंधित आवेदन पत्र कलेक्टर को दिये। जिसमें पटना थाना के लखन पनिका ने पोल्ट्री फार्म खोलने से बीमारी होने के कारण बंद करने, ग्राम पतरापाली के प्रताप सिंह ने शासन की योजना के तहत नलकूप खनन का अनुदान राशि भुगतान कराने, ग्राम बुडार के अधीन दास ने पानी की समस्या का समाधान कराने, नीलम चिकनजूरी ने मातृवंदना का लाभ दिलाने, ग्राम सैदा के बाबूलाल ने खाताधारक का नाम सुधरवाने, ग्राम सिंहोर के कृष्णा सिंह ने सौर ऊर्जा होम लाईट लगाने, चिरमिरी के धनीराम ने दैनिक मजदूरी के रूप में कर रहे कार्य को नियमितीकरण करने, ग्राम पिपरा के कंवल साय ने भूमि सीमांकन कराने, ग्राम सलगवांकला के भईयालाल ने वन अधिकार पट्टा दिलाने, ग्राम जनकपुर के डूमरखोली की सुनीता सिंह ने सडक दुर्घटना में मृत्यु होने पर सहायता राषि दिलाने, ग्राम रामगढ के लेबर-मिस्त्रियों का भुगतान कराने, ग्राम दुबछोला के जीवन लाल ने प्रधानमंत्री राजमिस्त्री प्रषिक्षण प्रमाण पत्र दिलाने सहित कई लोगों ने अपने आवेदन पत्र दिये। कलेक्टर ने सभी संबंधित अधिकारियों को उचित समय में निराकरण कर जिला कार्यालय को अवगत कराने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं डीएफओ मनेन्द्रगढ सहित जिले के सभी अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, डिप्टी कलेक्टर, तहसीलदार, नगरीय निकायों के सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी, सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।